Life में सही Decision कैसे ले – Make Right Decision In Life In Hindi

तो कैसे हो आप लोग, दोस्तों आप सभी का हमारे blog पर स्वागत है और आज का article है कि, “Life में सही Decision कैसे ले”. हर कोई हर रोज अपनी life में छोटे से लेकर बड़े decision लेता है, ऐसे में आपके लिए कोई decision सही रहता है तो कोई गलत रहता है बस इसी तरह से life चलती रहती है. पर आपमें से कई लोग ऐसे होते है जो चाहते है कि, उनका हर छोटा या बड़ा decision सही हो और वो life में कही पर भी गलती ना करे. ऐसे में उन लोगो के मन में ये सवाल चलता रहता है कि, ये मैं कैसे जानू की जो मैं decision ले रहा हु वो सही है? या सही फेसला कैसे लू? देखो दोस्तों अगर आप अपने decision में full confident है तो वो decision आपके लिए सही रहने वाला है but अगर आपके मन में उस decision के लिए कुछ dout है तो आपको अपने decision को improve करने की जरुरत है. इस article में हम आपको कुछ simple method बताने वाले है जो आपको अच्छा decision लेने में help करेंगे. So, please check out below for more information…………………………………………..

Life में सही Decision कैसे ले – Make Right Decision In Life In Hindi

सही Decision के लिए अपने डर को खत्म करे

दोस्तों जेसा की हमने आपको ऊपर बताया था कि, जिस decision में आप comfortable feel करते हो तो वो फेसला हमेशा सही रहता है but जिस decision में आप कुछ डर या dout feel करते हो वहा पर गड़बड़ हो जाती है. ऐसे में आपको अपने dout या डर को खत्म करने की जरुरत है. नीचे हमने कुछ तरीके बता रखे है, हमे उम्मीद है की इससे आपका काम बन जायेगा.   

1. अपने डर की List बनाये

अचानक से लिया गया decision 100% की तुलना में 60% हमारे खिलाफ होता है. तो अगर आप चाहते है कि, जिस decision में आपको डर या dout लग रहा है उसकी एक list बनाये. एक notepad में अपने decision के बारे में लिखे और ये भी list बनाये कि, आप किस dout या डर की वजह से अपना फेसला अच्छे से नहीं ले पा रहे है. अब एक एक करके अपने डर या dout के list को पढ़े और ठन्डे दिमाग से सोचे. इस तरह से आप अच्छे से अपने dout या डर को judge करोगे और सही decision ले पाओगे.

For Example :- मान लो की आप job छोड़ना चाहते है और आपके लिए ये decide कर पाना मुस्किल हो रहा है कि, job छोडू की नहीं. आपको मुस्किल इसलिए हो रही है because आपके मन में ये dout या डर है कि, कही job छोड़ने के बाद किसी दूसरी जगह पर job ना मिली तो मैं क्या करुंगे. इस तरह के ओर भी dout या डर आपके मन में चल सकते है. तो जेसे कि, हमने आपको ऊपर बताया था कि, एक notepad में अपनी problem लिखे और आपके मन में जो जो dout या डर है उसकी एक लम्बी चोडी list बनाये. अब एक एक करके अपने dout या डर को solve करे. जेसे कि :- अगर आपके मन में job ना मिलने की tension है तो अपनी job को अभी मत छोड़े और दूसरी जगह job मिलने के बाद पुरानी वाली job छोड़ दो. बस इसी तरह से अपनी सभी dout या डर को एक एक करके खत्म करे. जो आप last में decision लोगो, कसम से वो आपके लिए best होगा.

2. ज्यादा सोचना बंद करे

कई बार क्या बहुत बार सभी के साथ ऐसा होता है कि, जब हम किसी decision को लेने से डर जाते है तो हमारा दिमाग उस decision के बारे में ज्यादा सोचने लग जाता है. ज्यादा सोचने के चक्कर में हम अपनी सोचने की शक्ति को खत्म कर देते है और जो फेसला हम लेते है वो 100% हमारे खिलाफ रखता है. तो जब भी आपके सामने एसी situation आजाये तो ज्यादा सोचना बंद करे. अगर आपको लगे कि, आप अपनी सोच पर control नहीं पा रहे है तो उसी time deep breathing करना start कर दे. Deep breathing में आपको जमीन पर बैठना होता है, दोनों आँखे बंद कर और नाक से साँस ले. अब साँस को 5 से 6 second तक रोके और मुह ने धीरे धीरे छोड़े. इसी तरह 10 minute तक करे.

3. दिल की सुने की दिमाग की

ये वाला सवाल आपके लिए बहुत interesting होने वाला है कि, डर के time पर किसकी सुने दिल की या दिमाग की? अगर आप हमसे पूछे तो हम कहेंगे कि, अगर आप दिल और दिमाग को balance ले कर चले तो आप सही decision ले सकते हो. For Example :- मान लो कि, आपके घर वाले घर change करने को कह रहे है और आपका दिल नहीं मान रहा है घर change करने को. तो ऐसे में अपने दिल की ही ना सुने बल्कि दिमाग से भी काम ले. ये देखे कि, आपके घर वाले घर change करने के लिए क्यु कह रहे है? क्या उन्हें कोई problem हो रही है? etc etc सवाल. इस तरह दिल और दिमाग को balance रख कर आप सही फेसला ले सकते है.

Decision कैसे ले

दोस्तों इस section में हम आपको ये बताएँगे कि, life में सही decision कैसे ले? नीचे कुछ तरीके बताये गए है इन्हें पढ़े और समझे की हम क्या कहना चाह रहे है.

1. किसी की Help ले

अगर आप किसी decision में बहुत फस गये है तो ऐसे में आपको किसी की help लेनी चाहिए. किसी ऐसे को अपनी problem बताये जिसपर आपको बहुत भरोसा हो, वो कोई भी हो सकता है जेसे कि :- आपका friend, family member, कोई old person etc etc. अपनी problem को share करने से आप अच्छा feel करोगे और आपको सही advice मिलेगी.

2. Decision कुछ भी हो बस Accept करना सीखे

कुछ decision आपको लगता होगा कि, ये सही है but बाद में जाकर आपको feel होता है कि, आपका फेसला गलत था. तो ऐसे में कई लोग अपनी गलती को दिल में बैठा लेते है और गम में खोये रहते है. ऐसा आपको करना नहीं है, आपका decision जो मर्जी हो बस accept करना सीखे और अपने हर फेसले से कुछ ना कुछ सीखते रहे.

तो दोस्तों आपको हमारा article केसा लगा, हमे commenting के through जरुर बताये. अगर आपके मन में इस article से related और कोई सवाल है तो बेझिझक पूछे. दोस्तों इस article को पढने के बाद share करना ना भुले. दोस्तों हमारे साथ जुड़े रहे next article के लिए. Thanks and have a nice day.

Leave a Comment