होशियार कैसे बने – जाने होशियार बनने के 10 बहुत ही आसान तरीके

होशियार कैसे बने कुछ लोग जन्मजात बहुत होशियार होते है, उनमे ये जन्मजात गुण होता है, पर मेने कुछ ऐसे लोगो को भी देखा है जो अपने बचपन में बहुत डब्बू से थे पर जैसे जैसे वो बड़े हुए वो बहुत होशियार हो गए बचपन में जिन्हे लोग आसानी से बेवकूफ बना देते थे वो अब दुसरो को बेवकूफ बनाने लग गए

आज हम जिस तरह के लोगो के बिच में रहते है हमारा होशियार होना बहुत ही जरुरी है, सीधे सादे इंसान को सब आसानी से बेवकूफ बना देते है और उनके सीधे होने का फयदा उठाते है

अगर हम अच्छे इंसान है तो हमे यही लगता है की सब इंसान हमारे जैसे ही होते है पर आज की दुनिया में बहुत ज्यादा छल कपट है और ऐसे लोगो के बिच में सीधा बनके रहना बहुत बड़ी बेवकूफी है, ऐसे लोगो से बचने के लिए हमारा Hoshiyar होना बहुत ही जरुरी है तो आइये दोस्तों शुरू करते है की हम “होशियार कैसे बने”।

होशियार कैसे बने

क्या होशियार बनना संभव है ?

अगर आप जन्म से ही Hoshiyar है तो बहुत अच्छी बात है पर अगर आप सीधे प्रवति के इंसान है तो आपको Hoshiyar बनने के लिए कुछ मेहनत करना पड़ेगी, पर Hoshiyar बनना इतना मुश्किल भी नहीं है कुछ ऐसी बाते है जिन्हे आपको ध्यान रखना होगा और इसे धीरे धीरे अपनी आदत में लाना होगा, जब आप यह करने लग जाओगे तो ये गुण आपके अंदर ही आ जायेगा इसके लिए आपको मेहनत नहीं करना पड़ेगी और नहीं कुछ याद रखना पड़ेगा।

आपको अपने आप को बदलना पड़ेगा हो सकता है ये दूसरे लोगो को पसंद ना आये पर Hoshiyar बनना आपके लिए बहुत फायदेमंद होगा और आपका जीवन बहुत आसान हो जायेगा

हम होशियार कैसे बन सकते है – होशियार कैसे बने

1. निर्भय बनिए किसी भी परिस्थति में ना डरे

हमेशा हालात आपके अनुकूल हो यह जरुरी नहीं पर आपको ऐसे हालात में घबराना नहीं है और नहीं डरना है, भोले भाले लोग थोड़ी सी परेशानी आने पर डर जाते है पर होशियार लोग निडर होते है और वह कही भी बिना डरे अपनी बात रखते है।

कहते है की डर असफलता की ग्यारंटी होता है मतलब यदि आप ने किसी काम की शुरुवात डर के साथ की है मतलब आप असफल होने से डरते है और जो असफल होने से डरते है वो लोग सफल नहीं हो सकते है, और होशियार लोग डरते नहीं है इसलिए वो अपनी जिंदगी में भोले भाले लोगो की तुलना में ज्यादा सफल होते है।

2. नये लोगो से मिले जुले और उनसे बात करे

सीधे सादे और भोले व्यक्ति उनसे ही बात करते है जिन्हे वो अच्छे से और बहुत दिनों से पहचानते है, नये लोगो से बात करने में ये कतराते है, वही Hoshiyar व्यक्ति किसी से भी बात करने से नहीं डरते उनके सामने कोई भी इंसान हो वो बेजिझक बात करते है और नये लोगो से दोस्ती करने में भी ये लोग आगे होते है।

अगर आप भी Hoshiyar बनना चाहते है तो आप भी लोगो से बात करे, नये लोगो से जान पहचान करे और उनसे आगे होकर बात करने की कोशिश करे, अपना नेटवर्क बढ़ाये शुरू में हो सकता है आपको नए लोगो से बात करने में परेशानी हो पर जब आप यह करने लगेगो तो धीरे धीरे ये आपके लिए बहुत आसान हो जायेगा और आप भी नये लोगो से दोस्ती करने लग जाओगे।

3. लोगो का विश्वाश जितना सीखे

अगर आप अपनी भोली भली छवि से बाहर आना चाहते हो तो आपको लोगो का विश्वाश जितना आना चाहिए, जो लोग होशियार और समझदार होते है वो लोग सबका विश्वाश आसानी से जित लेते है, जब भी आप किसी को कुछ बोल रहे हो की ये काम हो जायेगा या में ऐसा करवा दूंगा तो उस वक़्त वो विश्वाश आपकी बात में भी दिखना चाहिए, अगर आप बोल रहे हो और ऐसा लगे की आप खुद ही संदेह में हो की ये काम होगा या नहीं तो सामने वाला आप पर विश्वाश नहीं कर पायेगा, आपको इस तरह अपनी बात रखनी हे की सामने वाला आप विश्वाश करे।

4. अपनी आवाज थोड़ी उची और स्पष्ट करे

आवाज उची करने से मतलब ये नहीं की आपको जोर से चिल्लाना है, पर जब भी आप किसी से बात करे तो आपकी आवाज ऐसी होनी चाहिए की सामने वाला उसे आसानी से सुन पाए और जो भी बोले स्पष्ट बोले अपने वाक्य को पूरा करे, जो लोग बहुत धीमी आवाज में बोलते है उन्हें कोई भी सुनना पसंद नहीं करता है , Hoshiyar व्यक्ति हमेशा अपनी बात स्पष्ट रूप से सबके सामने रखता है।

होशियार लोग जो स्पष्ट और उचा बोलते है वह लोग आके जाके लीडर बनते है, और बड़े बड़े पदों पर जाकर राज करते है, ऐसे लोग जो धीमे बात करते है और अपनी बात को स्पष्ट तरीके से नहीं कह पाते वो व्यक्ति आगे नहीं बढ़ता, इसलिए आप अगर होशियार बनना चाहते है तो आप अपनी आवाज में तेजी लाये।

5. बिना मतलब की बात करने से बचे जो भी बोले सोच समझकर बोले

होशियार लोग बिना मतलब की बक बक नहीं करते, वो कम बोलते है पर जब भी बोलते है बिलकुल सही बोलते है और वो कुछ भी बोलने से पहले सोचते है और समझते है की उस बात के क्या मायने है, इसलिए जब भी वो बोलते है तो लोग सुनना चाहते है की किस बारे में उनकी क्या राय है।

वही भोले लोग दो तरह के होते है या तो वो बिलकुल नहीं बोलते है या बोलते है तो बिना मतलब की बाते करते है और बहुत ज्यादा बोलते है उनको कोई भी सुनना नहीं चाहता, जो लोग बिना सोचे समझे कुछ भी बोलते रहते है उनकी बातो को कोई अहमियत नहीं देता है एक Hoshiyar और सीधे व्यक्ति के बिच यह भी सबसे बड़ा अंतर होता है।

6. हाँ में हाँ मिलाने की आदत छोड़े

जो सीधे व्यक्ति होते है वो बहुत जल्दी सबकी बातो में हाँ में हाँ मिला देते है, सामने वाले की बात चाहे उन्हें समझ भी नहीं आ रही हो तो भी वो हाँ कर देते है और ऐसी आदत के कारण वो कई बार मुसीबत में पड़ जाते है, जबकि Hoshiyar लोग ऐसे ही किसी की बातो में हाँ में हाँ नहीं मिलाते और यदि उन्हें कोई बात सही नहीं लगती या समझ नहीं आती तो वो सवाल भी करते है।

7. पारिवारिक या ऑफिस समारोह में बढ़चढ़कर हिस्सा ले

भोले भाले लोग सहमे सहमे से रहते है और वो किसी भी समारोह में चुपचाप रहते है और हमेशा एक दर्शक बनकर ही रहते है, जबकि Hoshiyar व्यक्ति पारिवारिक और ऑफिस समारोह में हिस्सा लेते है जिस कारण उनका आत्मविश्वाश भोले भाले लोगो की तुलना में ज्यादा होता है।

यदि आप भी Hoshiyar बनना चाहते है तो आप भी पारिवारिक और ऑफिस की गतिविधियों में हिस्सा ले जिससे आपका आत्मविश्वाश बढ़ेगा और आप दुसरो की नजर में भी आओगे लोग आपको जानने लगेंगे।

8. किसी को भी अपनी कमजोरी या अपने राज ना बताये

जो होशियार व्यक्ति होते है वह किसी को भी अपनी कमजोरी नहीं बताते और नहीं किसी को अपने राज बताते है, जबकि सीधे लोग बातो बातो में अपने राज या अपनी कमजोरी सामने वाले को बता देते है, और सामने वाला इंसान फिर उस कमजोरी का फायदा उठा लेता है

अगर आपको भी होशियार बनना है तो आप भी दुसरो के सामने अपनी कमजोरी या अपने राज छुपा के रखे।

9. किसी पर भी जल्दी भरोसा ना करे

सीधे सादे व्यक्ति लोगो पर बहुत जल्दी भरोसा कर लेते है और किसी से थोड़ी दोस्ती हुई नहीं की उसके सामने सबकुछ बक देते है, जबकि Hoshiyar इंसान ऐसा नहीं करता उसे पता होता है की आज इस इंसान से मेरे अच्छे रिश्ते है, पर इसका मतलब यह नहीं मेरे रिश्ते इससे हमेशा ही अच्छे रहने वाले है इसलिए वो उस इंसान को ऐसी कोई बात नहीं बताता जिससे उसे बाद में परेशानी हो या उस इंसान से रिश्ते जब अच्छे ना रहे तो वो कोई ऐसी बात बता सके जिससे उसे परेशानी हो।

होशियार बनना है तो लोगो पर बहुत जल्दी भरोसा नहीं करना चाहिए उस इंसान से अच्छा बोलो घूमो फिरो साथ में पर इतनी जल्दी उसे कोई ऐसी बात नहीं बताना चाहिए जिसका वो बाद में फायदा उठा सके और आपको परेशानी का सामना करना पड़े।

10. थोड़े चालाक बने लोगो से काम लेना सीखे

भोले भाले व्यक्ति दुसरो के तो बहुत काम आते है, पर वो अपने काम के लिए किसी को याद नहीं करते जबकि होशियार व्यक्ति अपना काम निकलवाना अच्छे से जानते है उन्हें लोगो से काम लेना आता है, आपको स्वयं को एक लीडर के रूप में दिखाना आना चाहिए।

और कभी आप दूसरे लोगो के काम भी आते है तो आप भी उन्हें कभी अपने काम के लिए याद करे इससे आपको लोगो की पहचान भी होगी की जिनके लिए आप हमेशा उपलब्ध रहते है क्या वो भी आपके काम आते है अगर नहीं आते है तो आप भी संभल जाईये और यदि वो आपको याद करते है किसी काम के लिए तो आप भी कोई बहाना बनाकर बच के निकल जाईये।

यह भी पढ़े – चतुर चालाक कैसे बने

Conclusion – होशियार कैसे बने

दोस्तों हमारा आर्टिकल पढ़ के आप समझ ही गए होंगे की Hoshiyar बनने के लिए आपको क्या करना है, हमने जो भी टिप्स आपको बताये है इसे आप धीरे धीरे अपनी रोजमर्रा की दिनचर्या में लाये इसे अपनी आदत बनाये और आप देखो की आप धीरे धीरे होशियार हो रहे है और पहले जहा बेवकूफ बनने के बाद आपको अपने आप पर गुस्सा आता था वैसा आपके साथ नहीं होगा, अगर आपको हमारा ये आर्टिकल “होशियार कैसे बने” पसंद आता है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये आपके कमेंट से ही हमे और अच्छा लिखने की प्रेणा मिलती है आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते है धन्यवाद।

Leave a Comment