माइंड को कैसे कण्ट्रोल करे जानिए कुछ आसान तरीके

माइंड को कैसे कण्ट्रोल करे – माइंड आपकी पूरी बॉडी को कण्ट्रोल करता है, पर जब बात आती है माइंड को कण्ट्रोल करने की तो ये असंभव है, जिस तरह आप अपनी साँसों को नही रोक सकते, उसी तरह आप दिमाग में आते हुए विचारो को भी नही रोक सकते।

अगर कोई कहे की ऐसा तरीका हे, जिससे आप माइंड पर कण्ट्रोल कर सकते है, तो यह बात बिलकुल झूठ है, पर हाँ हम यह कोशिश जरूर कर सकते है की बिना वजह के जो विचार आपको आते है आप उनमे कमी ला पाए और अपने दिमाग को सही कामो में लगा पाए।

तो आइये जानते है उन तरीको के बारे में जिससे हम अपने दिमाग को कण्ट्रोल कर सकते है।

माइंड को कैसे कण्ट्रोल करे

माइंड को Control करना क्यों जरुरी है

दिमाग हमारे शरीर का एक हिस्सा है जिससे आप अपनी पूरी बॉडी को कण्ट्रोल कर सकते हो, और अगर आप यह करने में कामयाब हो जाते हो तो बहुत ज्यादा चांस है की आप जिंदगी में जो चाहते हो वो हासिल कर पाओगे।

आपने बहुत से लोगो को देखा होगा जो गुस्सा आने पर बेकाबू हो जाते है, और उनका खुद पर ही कण्ट्रोल नही होता वो कुछ भी उठाकर फेक देते है या गुस्से में अपना ही नुकसान कर बैठते है, पर जिनका अपने माइंड के ऊपर पूरा कण्ट्रोल होता है, वो ऐसी परिस्थति में भी नार्मल रहते है।

इसलिए लाइफ में आगे बढ़ने के लिए माइंड पर कण्ट्रोल होना जरुरी है।

माइंड कण्ट्रोल में ना होने से होने वाले नुकसान

जब हमारा माइंड एक जगह स्थिर नही होता और हम अपने विचारो को कण्ट्रोल नही कर पाते तो हमे बहुत से मानसिक और शारीरक नुकसान होते है, हालांकि इन होने वाले नुकसानों पर किसी का भी ध्यान नही जाता

  • जब हमे विचार अधिक आते है तो इसका सीधा असर हमारी नींद पर होता है, जब हमे बहुत अधिक विचार आते हे तो हम देर रात तक सो नही पाते और सुबह भी हम विचारो से रिलेक्स नही होते तो सुबह भी हमारी नींद जल्दी खुल जाती है, और नींद पूरी ना होने से किसी भी व्यक्ति को बीमारिया घेर सकती है।
  • सफल होने के लिए आपको एक लक्ष्य बनाकर उस पर काम करना होता है, पर जब आपका दिमाग स्थिर नही होता है तो आप बार बार अपने लक्ष्य अपने काम बदलते रहते है जिससे आप सफल नही हो पाते।
  • बहुत ज्यादा विचार आने से व्यक्ति कोई भी काम ध्यान लगाकर नही कर पाता और वो नकारात्मक हो जाता है।
  • व्यक्ति बहुत उलझा हुआ रहता है, जिससे उसकी निर्णय लेने की क्षमता प्रभावित होती है।
  • कुछ भी याद रखने में दिक्कत आती है , व्यकित भुलक्कड़ हो जाता है।

माइंड को कैसे कण्ट्रोल करे – 10 उपाय

1. बुरी आदते छोड़े

इंसान सबसे ज्यादा तब डिस्टर्ब रहता है जब वो बुरी आदतों का शिकार हो जाता है, जैसे शराब पीना, जुआ खेलना या किसी बुरी आदत की लत लगाना ये सब आदते करते समय तो अच्छी लगती है पर इसमें हमेशा पछतावा ही होता है, और जब आप इस तरह की जिंदगी जीते हो तो आप कभी भी अपने आप से संतुष्ट नही रहते क्योंकि कही ना कही आप को भी यह पता रहता है की यह गलत है और आप इन् बुरी आदतों में और बुरे कामो में और ज्यादा गहरे फसते जाते हो।

ऐसा करने से आपको विचार ज्यादा आते है और वो विचार बुरे भी होते है, इसलिए बुरी आदतों से हमेशा दूर रहे और अगर आप भी किसी बुरी आदत के शिकार हो तो उसे जल्दी से छोड़े।

2. खुद को बिजी रखे

जब आप के पास खाली समय होता है तो उस वक़्त आपका दिमाग बहुत भटकता है, आपके मन में बहुत से बेवजह के विचार आने लगते है इसलिए अपने आप को हमेशा बिजी रखिये, क्योंकि हमारा दिमाग कभी भी खाली नही बैठ सकता वो हमेशा कुछ ना कुछ सोचेगा और जब आप किसी काम में बिजी रहते हो तो वो उस काम के बारे में ही सोचता है, बिना वजह के बिना मतलब के कामो से दूर रहता है।

इसलिए अपने कुछ लक्ष्य बनाइये और उन्हें पूरा करने में जुट जाईये, जब आप अपने लक्ष्य को पाने में लग जाते हो तो आपका दिमाग भी सिर्फ उसी के बारे में सोचता है, और आपको अपने लक्ष्य को पाने में मदद करता है।

यह भी पढ़े – अपने आप को बिजी कैसे रखे

3. अपनी दिनचर्या में सुधार करे

जब आप की दिनचर्या बहुत अस्त व्यस्त होती है तो आपका माइंड भी रिलेक्स नही रहता इसलिए आपको एक अच्छी दिनचर्या की बहुत जरुरत है, जब आपको पहले से पता होता है की आपको दिनभर में क्या क्या काम करना है तो आप उसके लिए तैयार रहते है।

अपनी दिनचर्या में बिना वजह के कार्यो को जगह ना दे, अपनी दिनचर्या में उन्ही कामो को जगह दे जो जरुरी है और आपकी प्रोग्रेस के लिए आवश्यक  है।

यह भी पढ़े – सफल होने के लिए Daily Routine कैसा होना चाहिए

4. योग और मैडिटेशन करे

ये एक बहुत कारगर और लोगो द्वारा सबसे ज्यादा अपनाया जाने वाला तरीका है, डॉ. भी आपको मैडिटेशन करने की सलाह देते है।

पर ज्यादातर लोग इसे शुरू तो करते है, पर बहुत जल्दी ही इसे छोड़ देते है क्योंकि उन्हें इसका कोई असर नही दीखता है, पर मैडिटेशन से आपको इतनी जल्दी असर नही दीखता है जब आप इसे लगातार करते हो उसके बाद इसका असर दिखने लगता है।

अगर आप इसे शुरू करते है तो यही सोचकर करना ही कम से कम 2 महीने बाद ही आपको इसका कुछ असर होगा, जब आपको इसका असर दिखेगा तो आप पाओगे की बिना वजह के विचारो से आप मुक्त हो गए हो और काफी हद तक आप अपने माइंड को कण्ट्रोल करने लग जाओगे

5. लाइफ में आगे बढ़ने का प्रयास करे

जीवन में हमेशा आगे बढ़ने का प्रयास करे, जब आप जिंदगी में कुछ बड़ा करने की सोचते है और उसे पूरा करने में जुट जाते है और आपका दिमाग भी हमेशा यही सोचता है की आगे कैसे बढे, तो बिना वजह के विचारो के लिए आपके पास टाइम नही रहता।

जब आप अपने लिए कुछ टारगेट सेट करते हो तो आपका दिमाग उसे ही प्रायोरिटी देता है और आपका ध्यान एक जगह ही केंद्रित हो जाता है।

यह भी पढ़े – लाइफ में आगे बढ़ने के लिए क्या करे

6. फोकस करने का प्रयास करे

जब आप कोई भी काम करते है तो उस पर पूरा फोकस करने की कोशिश करे, बिच बिच में मोबाइल ना चलाये या कोई ऐसी एक्टिविटी ना करे जिससे आपका फोकस टूट जाए।

आपको अपने फोकस को बढ़ाना होगा, और लगातार एक काम को ज्यादा समय तक करने का प्रयास करना होगा।

फोकस बढ़ाने के बहुत से तरीके है आप उन्हें आजमा कर अपना फोकस बढ़ा सकते है।

यह भी पढ़े – फोकस केसे बढ़ाये – फोकस बढाने का आसन तरीका

7. मन को शांत रखे

आपका मन जितना शांत रहेगा आप खुद को बिना मतलब के विचारो से उतना दूर रख पाओगे इसलिए अपने मन को शांत रखने की कोशिश करे, बिना वजह गुस्सा ना करे, जितना हो सकते अपने ऊपर काबू रखे।

आँख बंद करके शांत बैठिये और अपनी साँसों को महसूस कीजिये, इससे आप अपने विचारो पर काबू पा सकोगे, और खुद के दिमाग को महसूस कर पाओगे की वह किस तरह काम करता है।

8. कुछ समय अपने परिवार के साथ बिताये

जो लोग अकेले रहते है वो बिना वजह के विचारो से ज्यादा परेशान रहते है, इसलिए कुछ समय अपने परिवार के साथ बिताये इससे आप अच्छा महसूस करोगे और जब आप अच्छा महसूस करते है, और आप जब परिवार के साथ होते है तो उस समय आपको विचार नही आते।

परिवार के साथ समय बिताने पर आपको सकारात्मक विचार आते है, और आपको मुसीबतो का सामना करने की हिम्मत मिलती है।

9. सेल्फ कॉन्फिडेंस बनाये रखे

जिनका सेल्फ कॉन्फिडेंस अच्छा होता है, वो सही फैसले लेने में सक्षम होते है, और उन्हें अपने ऊपर पूरा विश्वाश होता है, इसलिए उनसे यदि कोई छोटी गलती हो भी जाती है तो वो उसके बारे में इतना सोचते नही है।

और जिनका कॉन्फिडेंस कम होता है वो छोटी से बात के बारे में बहुत सोचते है, वो अपनी छोटी से गलती के बारे में बहुत विचार करते  है की में ऐसा कर सकता था काश ऐसा नही होता, और जिनका सेल्फ कॉन्फिडेंस अच्छा होता है वो हमेशा आगे की सोचते है जो हो गया उसके बारे में सोचकर अपना समय बरबाद नही करते, इसलिए अपने सेल्फ कॉन्फिडेंस को हमेशा बनाये रखे।

Self Confidence kaise badhaye

अपनी पसंद का काम करे

ऐसा काम ना करे जो आपको पसंद नही है, हम किसी के दबाव या मजबूरी में ऐसा काम कर तो लेते है जो पसंद नही है, पर कही ना कही हम अंदर से खुश नही रहते, और हमारे विचार और हमारा मन उधर दौड़ता है जो हमे पसंद होता है।

जब आप अपनी पसंद का काम करते है तो मन में एक संतुष्टि होती है, और आपका ध्यान और विचार इधर उधर नही जाते और आप बेवजह के विचारो से बच जाते है।

निष्कर्ष (conclusion): माइंड को कैसे कण्ट्रोल करे

हमने जो तरीके बताये है, आप उन्हें आजमाए तो यक़ीनन आप अपने माइंड को कण्ट्रोल करने में काफी हद तक कामयाब हो जाओगे, अगर आप को हमारे द्वारा बताये गए तरीके अच्छे लगे और ये आर्टिकल “माइंड को कैसे कण्ट्रोल करे” आपको पसंद आया है तो हमे कमेंट करके जरूर बताये और साथ ही इसे शेयर भी जरूर करे धन्यवाद

Leave a Comment