जीवन में सफल होना है तो यह जरूर पढ़े – Motivational speech in hindi

जब हम किसी सफल इंसान को देखते है तो हमे लगता है, वो और हम अलग है हमारे अंदर वो बात नहीं है की हम सफल हो पाएंगे, पर सफल होने से पहले वो इंसान भी आपके जैसा एक साधारण इंसान ही था, यदि आप भी जीवन में सफल होना चाहते है तो हमारा ये आर्टिकल पूरा पढ़िए यकीनन इससे आपको जिंदगी में आगे बढ़ने में मदद मिलेगी, हम यहाँ पर बड़ी बड़ी बाते नही करने वाले है बहुत ही छोटी छोटी और सटीक बात करेंगे जो आप खुद महसूस कर पाओगे, तो आइये शुरू करते है हमारा आर्टिकल “Motivational speech in hindi

एक सफल इंसान और असफल इंसान के बिच जो सबसे बड़ा अंतर है, वह यह की असफल व्यक्ति अपने से ज्यादा दुसरो पर विश्वाश करते है, जब वह कुछ नया करने की सोचते है या करना चाहते है तो उन्हें कोई बोल देता है की यह काम तेरा बस का नही है, तुझसे नही हो पायेगा तो वो इस पर विश्वाश कर लेते है, जबकि जो सफल व्यक्ति होते है वो दुसरो से ज्यादा खुद पर विश्वाश करते है, उन्हें कोई फर्क नही पढता की उनके बारे में कोई क्या सोच रहा है, क्या बोल रहा है या पीठ पीछे बुराई कर रहा है, वो अपने इरादों पर अटल रहते है और अपने विश्वाश को डगमगाने नही देते।

Motivational speech in hindi

Motivational speech in hindi

खुद पर विश्वाश करना सीखे सफल होने के लिए जो सबसे जरुरी है वो है सेल्फ कॉन्फिडेंस अगर आपको खुद पर विश्वाश नही है तो आप चाहे जितने टेलेटेंड हो या स्मार्ट हो आप जीवन में सफल नही हो सकते, क्योंकि सफलता कभी भी सीधे रास्तो से नही मिलती बिच में बहुत से उतार चढ़ाव आते है, और अगर आपको खुद पर विश्वाश नही है तो आप उन कठिनाइयों को पार नही कर पाओगे और वंही रुक जाओगे, जिंदगी में कुछ पाना असंभव नही होता आपने जो ठान लिया है आप उसे पूरा कर सकते हो, बस इसके लिए आपको खुद पर विश्वाश रखना पड़ेगा।

आप जब किसी न्यू एड्रेस को सर्च करते हो और उस न्यू एड्रेस पर आपको किसी से मिलने जाना होता है तो जरुरी नही है, की वो एड्रेस आपको एक बार में ही मिल जाए और आप सीधे वहा पहुंच जाए कभी कभी हम भटक जाते है और गलत चले जाते है, और सही जगह पहुंचने में हमे देर लग जाती है, पर वहा पर हमे खुद पर विश्वाश होता है, की हम देर से ही सही जगह चले जायेंगे, हम किसी की हेल्प लेते है एड्रेस पूछने में पर मंजिल नहीं छोड़ते या पलटकर नही आते, ठीक उसी तरह हमे सफल होने के लिए भी खुद पर विश्वाश करना चाहिए, और बिच में कोई भी मुसीबत आने पर बिच में नही रुकना चाहिए, उन मुश्किलों, रुकावटों को पार करके ही हम अपनी मंजिल को पाएंगे और सफल होंगे।

हमेशा गतिशील बने रहे स्विमिंग पुल में साफ़ पानी भरा जाता है, फिर भी उसे आये दिन साफ करना पड़ता है और उसका पानी बदलना पड़ता है, जबकि नदी का पानी कोई चेंज नही करता फिर भी वो साफ रहता है आखिर ऐसा क्यों, क्योंकि नदी का पानी निरंतर बहते रहता है, उसके बहने की गति में परिवर्तन हो सकता है कभी तेज कभी बहुत धीमा पर नदी कभी भी रूकती नही, कही भी ठहरती नही, और स्विमिंग पुल का पानी एक जगह रहता है और १-२ दिन में वह गन्दा होने लगता है क्योंकि वह एक जगह रुका रहता है।

इसी तरह अगर आपको भी सफल होना है और उस सफलता को बनाये रखना है तो निरंतर कुछ ना कुछ करते रहना होगा, आपका पतन उसी वक़्त शुरू हो जायेगा जब आपने सोच लिया की आपको सबकुछ आता है अपने सबकुछ सिख लिया है, इसलिए आप जॉब कर रहे हो या खुद का बिज़नेस या आप एक स्टूडेंट है, हमेशा खुद को डेवेलोप करिये कुछ नया सीखते रहिये, तभी आप जीवन में सफल हो सकेंगे।

अपने लक्ष्य ना बदले एक बात बताइये अगर मुझे जमीन से पानी निकालना है तो मुझे क्या करना पड़ेगा, में १० फीट के १० गड्डे करूँगा तो क्या पानी निकलेगा नही, इसके लिए मुझे एक ही जगह लगातार गहरा गड्डा खोदना होगा जब वहा से पानी निकलेगा, ठीक उसी तरह आपको भी लगातार एक लक्ष्य के लिए मेहनत करना होगी, बार बार लक्ष्य बदलने से आप किसी भी काम में सफल नही हो सकते, जब आप किसी लक्ष्य को अधूरा छोड़कर कोई दूसरा टारगेट सेट करते हो तो आपको फिर से नई शुरुवात करना पड़ती है, जिससे आपकी पिछली मेहनत कोई काम नही आती ना आप अपने पुराने काम के अनुभव का फायदा ले पाते हो, इसलिए एक लक्ष्य बनाये और उस पर अटल रहे, लक्ष्य बनाने में सोच लो थोड़ा टाइम ले लो पर जो एक बार जो सोच लिया फिर वो करके ही दम लो।

एक बात समझलो सफलता हमेशा निरन्तर प्रयास और मेहनत से मिलेगी, किस्मत आजमाने से नही मेने बहुत से लोगो को देखा है, जिनको यह नही पता होता की उन्हें जीवन में करना क्या है, वो हर जगह अपनी किस्मत आजमाते है, और किस्मत आजमाने वाले ज्यादातर लोग असफल ही रह जाते है।

अपने सोचने का तरीका बदलिए कुछ लोग किसी भी काम को इस तरह शुरू करते है की चलो try मारते है अगर कुछ अच्छा रिस्पांस मिला या थोड़ी सफलता मिली तो फिर हम इसमें अपना १००% देंगे, दोस्तों प्रतिस्पर्धा के इस दौर में try करने से कुछ नही होता अगर आपको सफल होना है तो शुरू से ही आपको अपना १००% देना होगा, और अगर आप अपना १००% देते है तो आपको सफल होने से कोई नही रोक सकता।

 

आप असफल कब होते है हमे असफल होने का सही मतलब समझने की जरुरत है, आप असफल तब होते है जब आप अपने लक्ष्य को पाने की कोशिश करना बंद कर देते है, जब तक आप कोशिश करते रहते है तब तक आप फैल नही हुए हो, मेने जब ब्लॉगिंग शुरू की थी तो शुरू के ३-४ महीने मेरे ब्लॉग पर कोई यूजर नही आते थे में भी डिमोटिवेट हुआ था पर मेने हार नही मानी और लिखता रहा, और आज मेरे ब्लॉग पर अच्छे खासे यूजर आते है और मेरा ब्लॉग पढ़ते है, मुझे सफलता देर से मिली पर में असफल नही हुआ, असफल तब होता जब में इसे बिच में ही छोड़ देता और हार मान लेता, इसलिए कोशिशे करते रहिये हार मन मानिये सफलता आपको जुरूर मिलेगी।

किसी भी काम को शुरू करने का सबसे अच्छा तरीका है बस शुरू कर दो ज्यादातर लोग सही मोके का इन्तजार करते है और कुछ करने से पहले परिस्थतिया अनुकूल होने का इन्तजार करते है, पर एक बात याद रखियेगा परिस्थतिया हमेशा आपके अनुकूल नही रहेगी आपको विपरीत परिस्थतियो के साथ ही अपने लक्ष्य की और बढ़ना होगा फिर धीरे धीरे सब आपके अनुकूल होने लगेगा, इसलिए यदि आपने कुछ सोच लिया है और करना है तो बस शुरू कर दो।

आखिर में – Motivational speech in hindi

अगर संक्षेप में सारी बातो का सार निकाले तो पहले कुछ बड़ा सोचो फिर पक्का इरादा करो और लग जाओ अपने सपनो को पूरा करने में और जब तक हार मत मानो जब तक की अपने लक्ष्य को हासिल ना कर लौ

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल “Motivational speech in hindi” पसंद आया है और आपको लगता है की इसे किसी के साथ शेयर किया जा सकता है तो शेयर भी अवश्य करिये।

Leave a Comment